वर्तमान समारोह

  • 21 अप्रैल, 2017 को नई दिल्ली में सी.पी.डब्ल्यू.डी. अधिकारी पत्नी संघ के एक प्रतिनिधिमंडल के साथ भारत के माननीय उपराष्ट्रपति श्री मो. हामिद अंसारी।
    21 अप्रैल, 2017 को नई दिल्ली में सी.पी.डब्ल्यू.डी. अधिकारी पत्नी संघ के एक प्रतिनिधिमंडल के साथ भारत के माननीय उपराष्ट्रपति श्री मो. हामिद अंसारी। अप्रैल 21, 2017
  • 21 अप्रैल, 2017 को नई दिल्ली में सी.पी.डब्ल्यू.डी. अधिकारी पत्नी संघ के एक प्रतिनिधिमंडल ने भारत के माननीय उपराष्ट्रपति श्री मो. हामिद अंसारी को ध्वज स्टीकर भेंट किया।
    21 अप्रैल, 2017 को नई दिल्ली में सी.पी.डब्ल्यू.डी. अधिकारी पत्नी संघ के एक प्रतिनिधिमंडल ने भारत के माननीय उपराष्ट्रपति श्री मो. हामिद अंसारी को ध्वज स्टीकर भेंट किया। अप्रैल 21, 2017
  • 19 अप्रैल, 2017 को नई दिल्ली में 'स्किलिंग इंडिया फॉर ग्लोबल कंपीटिवनेस' पर आयोजित राष्ट्रीय सम्मेलन में संबोधित करते हुए भारत के माननीय उपराष्ट्रपति श्री मो. हामिद अंसारी।
    19 अप्रैल, 2017 को नई दिल्ली में 'स्किलिंग इंडिया फॉर ग्लोबल कंपीटिवनेस' पर आयोजित राष्ट्रीय सम्मेलन में संबोधित करते हुए भारत के माननीय उपराष्ट्रपति श्री मो. हामिद अंसारी। अप्रैल 19, 2017
  • 19 अप्रैल, 2017 को नई दिल्ली में 'स्किलिंग इंडिया फॉर ग्लोबल कंपीटिवनेस' पर आयोजित राष्ट्रीय सम्मेलन के अवसर पर भारत के माननीय उपराष्ट्रपति श्री मो. हामिद अंसारी।
    19 अप्रैल, 2017 को नई दिल्ली में 'स्किलिंग इंडिया फॉर ग्लोबल कंपीटिवनेस' पर आयोजित राष्ट्रीय सम्मेलन के अवसर पर भारत के माननीय उपराष्ट्रपति श्री मो. हामिद अंसारी। अप्रैल 19, 2017

प्रेस विज्ञप्ति / संदेश

भाषण

  • Remarks by Shri M. Hamid Ansari, Honourable Vice President of India at the World Heritage Day celebrations convened by the Indian Trust for Rural Heritage and Development (ITHRD) at IIC Annexe in New Delhi on 18 April 2017.
  • Mohammad Quli Qutub Shah Lecture by Shri M. Hamid Ansari, Honourable Vice President of India at Maulana Azad National Urdu University,Hyderabad on 13 April 2017.
  • 10 अप्रैल, 2017 को नई दिल्ली में श्री अश्विनी कुमार की पुस्तक होप इन ए चैलेंज्ड डेमोक्रेसी ऐन इंडियन नैरेटिव के विमोचन के अवसर पर भारत के माननीय उपराष्ट्रपति श्री मो. हामिद अंसारी का भाषण
  • 25 मार्च, 2017 को चंडीगढ़ में पंजाब विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह के अवसर पर भारत के माननीय उपराष्ट्रपति मो. हामिद अंसारी द्वारा दिया गया भाषण