भारत के माननीय उपराष्ट्रपति ने मकर संक्रांति और पोंगल के पावन अवसर पर अपने सभी देशवासियों को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी

नई दिल्ली
जनवरी 13, 2021

मैं मकर संक्रांति और पोंगल के पावन अवसर पर सभी देशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं देता हूं।

मकर संक्रांति 'उत्तरायण', सूर्य के उत्तर दिशा में गमन के शुभारंभ का पर्व है। देश भर में भिन्न-भिन्न नामों से मनाया जाने वाला यह त्योहार, खेतों में तैयार फसलों की कटाई से भी जुड़ा है तथा हमारी साझी एकता के उस सूत्र को दर्शाता है जो हमारी मिली जुली संस्कृति को बांधता है।

उल्लासपूर्ण और भरी-पूरी प्रकृति का उत्सव मनाने वाला यह कृषि महोत्सव वास्तव में अद्भुत है, ये हमें प्रकृति के साथ हमारे नैसर्गिक आत्मीय संबंधों की याद दिलाता है। यह त्योहार प्रकृति के प्रति हमारी संस्कारगत अगाध श्रद्धा का भी द्योतक है। यह हमारे गाँवों, जहां हमारी विरासत और संस्कृति पल्लवित पुष्पित हुई, उन जड़ों से पुन: जुड़ने का अवसर प्रदान करता है।

त्योहारों का यह समय आपके परिवार में खुशियाँ लेकर आए, हमारे राष्ट्र में एकजुटता की भावना को दृढ़ करे और भावी भविष्य की शुभ शुरुआत करे।

Is Press Release?: 
0