भारत के माननीय उपराष्ट्रपति ने मकर संक्रांति और पोंगल के पावन अवसर पर अपने सभी देशवासियों को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी

नई दिल्ली
जनवरी 14, 2020

मैं मकर संक्रांति और पोंगल के पावन अवसर पर अपने सभी देशवासियों को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं देता हूं।

मकर संक्रांति 'उत्तरायण' अथवा सूर्य के उत्तर दिशा में गमन के शुभारंभ का प्रतीक है।

देश भर में भिन्न-भिन्न नामों से जाने-जाने वाले मकर संक्रांति और पोंगल के त्योहार फसल कटाई से संबंधित हैं और हमारे देश की सामासिक संस्कृति को प्रदर्शित करते हैं। ये प्रकृति की उर्वरता और उदारता का उत्सव मनाने और प्रकृति द्वारा हमें प्रदान किए गए अनेक उपहारों के लिए आभार प्रकट करने का अवसर है।

यह माना जाता है कि त्योहारों का समय शांति और समृद्धि का समय होता है। मुझे आशा है कि यह त्योहार सौहार्द और आपस में मिल-जुलकर जीवन यापन करने की क्षमता लाएगा जहां समाज का प्रत्येक सदस्य मानवीय संबंध गढ़ेगा और उन्हें मज़बूती प्रदान करेगा।

मेरी शुभकामना है कि ये त्योहार प्रत्येक व्यक्ति के जीवन में समृद्धि, शांति और समरसता लाएं।

Is Press Release?: 
0