भारत के उपराष्ट्रपति ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती के अवसर पर देशवासियों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी

नई दिल्ली
अक्टूबर 1, 2021

मैं राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती के अवसर पर अपने देशवासियों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं देता हूँ।

महात्मा गांधी ने विश्व को अन्याय के खिलाफ लडाई का एक नया रास्ता - सत्य और अहिंसा का रास्ता दिखाया और मानवता पर अमिट छाप छोड़ी। उन्होंने भारत को औपनिवेशिक शासन से आजाद कराने के लिए अपने प्रयासों को सत्य (सत्याग्रह) और अहिंसा के मूल्यों पर स्थापित किया। 21वीं सदी में भी वे शोषितों के हिमायती और प्रतिनिधि बने हुए हैं।

गांधीजी ने अपने व्यक्तिगत जीवन को उदाहरणस्वरूप पेश किया और कहा कि उनका जीवन ही उनका संदेश है। हम उनके जीवन और दर्शन से सतत विकास, आत्मनिर्भरता, गरीबों के सशक्तिकरण और 'ग्राम स्वराज' की प्रेरणा ले सकते हैं। गांधीजी की विचारधारा के ये विषय आधुनिक समय में और अधिक प्रासंगिक हो गए हैं। उनका जीवन देश के लिए प्रकाश का स्त्रोत बना हुआ है जो हमारे राष्ट्र की प्रगति में हमारा मार्गदर्शन कर रहा है।

गांधीजी का अहिंसा का सिद्धांत हमारी शांति, सद्भावना और सार्वभौमिक भाईचारे की साझा खोज में हमारा और शेष विश्व का मार्गदर्शन करता रहेगा।

मैं पुन: महात्मा गांधी जयंती के अवसर पर देशवासियों को अपनी हार्दिक शुभकामनाएं देता हूँ।

जय हिंद!

Is Press Release?: 
0