भारत के उपराष्ट्रपति ने 'गणेश चतुर्थी' के पावन अवसर पर सभी देशवासियों को हार्दिक बधाई व शुभकामनाएँ दी।

नई दिल्ली
अगस्त 21, 2020

मैं 'गणेश चतुर्थी' के पावन अवसर पर देशवासियों को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं देता हूं।

भगवान शिव और देवी पार्वती के छोटे पुत्र माने जाने वाले भगवान गणेश बुद्धिमत्ता, समृद्धि और सौभाग्य के प्रतीक के रूप में पूजे जाते हैं। हम कोई भी नया कार्य आरंभ करने से पूर्व भगवान गणेश के नाम का आह्वान करते हैं और हमारे मार्ग में आने वाली बाधाओं को दूर करने के लिए उनके आशीर्वाद की कामना करते हैं।

गणेश चतुर्थी भगवान गणेश के जन्म के उपलक्ष्य में 10 दिनों तक चलने वाला पर्व है। इस पर्व के दौरान अक्सर भक्तों के विशाल जनसमूह और शोभायात्राएं देखने को मिलती हैं। प्रत्येक वर्ष, लोग भगवान गणेश की भव्य मूर्तियों को अपने घरों में लाते हैं और अत्यंत भक्ति भाव और पवित्रता के साथ उनकी पूजा करते हैं। इस पर्व का अंत 10वें दिन मूर्तियों के विसर्जन के साथ होता है, जो कि भगवान गणेश की कैलाश की ओर यात्रा का प्रतीक है।

यद्यपि, विशाल शोभायात्रा और जनसमूह गणेश चतुर्थी समारोह की पहचान हैं, लेकिन इस वर्ष हमें कोविड-19 महामारी के प्रसार के मद्देनज़र समारोह को छोटे स्तर पर मनाने का प्रयास करना चाहिए। मैं सभी नागरिकों से आग्रह करता हूं कि वे कोविड-19 के शारीरिक दूरी संबंधी प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन करें और पर्व मनाते समय स्वच्छता का ध्यान रखें।

मैं कामना करता हूं कि यह त्योहार देश में शांति, सौहार्द और समृद्धि लाए।

Is Press Release?: 
0