उपराष्ट्रपति ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के अवसर पर देशवासियों को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी

नई दिल्ली
अक्टूबर 1, 2019

मैं राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के अवसर पर अपने देशवासियों को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं देता हूं।

गांधीजी के स्वतंत्रता, गरिमा और समानता के सिद्धान्त, स्थान और समय की सीमाओं में नहीं बंधे हैं। वे पूरे विश्व पर लागू होते हैं और उनका महत्व शाश्वत है।

उनके व्यक्तिगत जीवन की मन को शांत कर देने वाली सादगी, उनका सहिष्णुता और सामंजस्य का संदेश, उन्होंने जिस साहस और निर्भीकता के साथ अन्याय को चुनौती दी, उनके द्वारा सत्य और अहिंसा के सिद्धांतों का दृढ़तापूर्वक पालन और राष्ट्र और उसके नागरिकों की स्वतन्त्रता के प्रति उनकी अटल प्रतिबद्धता, इन सब ने उन्हें विश्व का एक सार्वकालिक महान नेता बनाया है।

भारत महात्मा गांधी के जीवन दर्शन से निरंतर प्रेरणा लेता रहा है: सरकार द्वारा शुरू किए गए सर्वाधिक सफल कार्यक्रमों में से एक है स्वच्छ भारत कार्यक्रम अथवा 'क्लीन इंडिया प्रोग्राम' जिसका उद्देश्य था गांधीजी के एक अनमोल सपने को सच कर दिखाना। भारत खुले में शौच मुक्त समाज का निर्माण करने के प्रमुख पड़ाव को पार कर रहा है, तथापि कई अन्य चुनौतियाँ सामने आ रही हैं जिनका समाधान करना आवश्यक होगा।

गांधीजी ने एक आत्मनिर्भर भारत का सपना देखा था, एक ऐसे राष्ट्र का सपना देखा था जो गरीबी, भेदभाव और सामाजिक बुराइयों से मुक्त होगा और विश्व में एक गौरवपूर्ण और गरिमापूर्ण स्थान हासिल करेगा ।

आइये इस गांधी जयंती पर हम सम्मिलित रूप से यह संकल्प लें कि हम महात्मा गांधी के समावेशी, मैत्रीपूर्ण, स्वच्छ और समृद्ध भारत के सपने को सच करने हेतु साथ मिलकर काम करेंगे और गांधीजी का सम्मान करेंगे ।

Is Press Release?: 
0