06 जनवरी, 2018 को नई दिल्ली में एनसीसी गणतंत्र दिवस शिविर-2018 के उद्घाटन के अवसर पर भारत के माननीय उपराष्ट्रपति श्री एम. वेंकैया नायडु का संबोधन

नई दिल्ली | जनवरी 6, 2018

"राष्ट्रीय कैडेट कोर के गणतंत्र दिवस शिविर में आना मेरे लिए प्रसन्नता की बात है।

प्रारंभ में, मैं आज सभी को समृद्ध एवं खुशहाल नववर्ष की शुभकामनाएं देता हूँ। मैं यहाँ उपस्थित हमारे युवाओं के प्रसन्न और जोशीले तथा आत्मविश्वास से परिपूर्ण चेहरों को देखकर बहुत प्रसन्नचित्त हूँ।

राष्ट्रीय कैडेट कोर विश्व का वर्दी से सुसज्जित सबसे बड़ा युवा संगठन है, जो दूरदराज़ के क्षेत्रों तथा जनजातीय क्षेत्रों के साथ-साथ देश के अलग-अलग हिस्सों से आने वाले युवक-युवतियों को एक साथ एकत्रित करता है और उनको इस महान देश के जिम्मेदार, अनुशासित और संगठित नागरिक के रूप में रूपांतरित करता है।

यह संगठन भाईचारे की भावना का संचार करता है, चरित्र का निर्माण करता है, निस्वार्थ सेवा के मूल्यों अपने सह-नागरिकों के प्रति संवेदनशील होने, सामुदायिक सेवा एवं साहस की भावना का संचार करता है। इस शिविर का परिवेश ही मित्रता एवं देशभक्ति का भावना से ओतप्रोत कर देता है। यह शिविर आप में से प्रत्येक के लिए अविस्मरणीय, प्रेरणास्पद एवं ज्ञान से भरा अनुभव रहेगा। इसमें आपको न केवल भारत देश के अन्य भागों के कैडेट से रूबरू होने का मौका मिलेगा, बल्कि इस शिविर में आनेवाले विदेशी मित्र देशों के कैडेटों से भी, संपर्क करने का मौका मिलेगा। यह एक अनोखा अवसर है, जिसमें न केवल आप अपने देश को बेहतर तरीके से समझेंगे, बल्कि आप अपनी समझ के दायरे को बढ़ाएंगे तथा दूसरे राष्ट्रों के साथी कैडेटों के साथ स्थायी मित्रता स्थापित करेंगे। यह शिविर वैश्विक भाईचारे, जो राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं से ऊपर है के सारतत्व को परिलक्षित करेगा।

दिन प्रतिदिन नई चुनौतियां उत्पन्न होती रहती हैं जिनका सामना हमें विश्व के एक परिपक्व लोकतंत्र के रूप में करना होगा। संकट एवं भूकंप, चक्रवात तथा बाढ़ जैसी प्राकृतिक आपदाओं की घड़ी में आपका योगदान सराहनीय रहा है।

स्वच्छ भारत अभियान, एड्स, प्रौढ़ शिक्षा, दहेज तथा भ्रष्टाचार के बारे में आम जनता को शिक्षित करके उनमें जागरूकता फैलाकर समाज के लिए आपके द्वारा किए गए प्रयासों की प्रत्येक व्यक्ति ने प्रशंसा की है। आपके प्रयास से सामाजिक ताने-बाने में सकारात्मक रूप से सुधार होगा। मुझे पूर्ण विश्वास है कि आपके प्रयासों से निकट भविष्य में अच्छे परिणाम प्राप्त होंगे।

राष्ट्रीय कैडेट कोर राष्ट्रीय एकीकरण का एक जगमगाता उदाहरण है और आप हमारे राष्ट्र के स्तंभ हैं। यह जानकर अत्यंत प्रसन्नता हुई कि एनसीसी कैडेट सभी महत्वपूर्ण अवसरों पर बड़ी संख्या में भाग लेते रहे हैं। मुझे बताया गया है कि इस वर्ष अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर देश भर में लगभग एक लाख कैडेटों ने भाग लिया था। मैं यह जानकर अत्यंत प्रसन्न हूँ कि एनसीसी बालिका कैडेटों ने जुलाई, 2017 में माऊंट लद्दाखी की चढ़ाई की, जबकि बालकों ने सितंबर, 2017 में माउंट जोगिन की चढ़ाई की। एनसीसी अपने विभिन्न कार्यक्रमों में लगभग 10 लाख कैडेट्स के साथ भाग लेते हुए स्वच्छता अभियान की दिशा में व्यापक रूप से योगदान देता रहा है।

यह अत्यधिक संतोषप्रद है कि आप सभी ने जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में उत्तम कार्य किया है। 17 वर्ष से कम उम्र की बालिकाओं की फुटबाल टीम ने सितम्बर, 2017 में दिल्ली में हुए सुब्रतो कप में उपविजेता की ट्रॉफी जीती। एनसीसी के कैडेटों का खेलों में विशेषकर निशानेबाजी में उल्लेखनीय प्रदर्शन आने वाले वर्षों में खेलों में हमारे उज्ज्वल भविष्य का एक निश्चित संकेत देता है। मुझे पूरा विश्वास है कि एनसीसी खिलाड़ियों को इसी तरह तैयार करता रहेगा जो हमारे देश के लिए गौरव अर्जित करेंगे।

आज, मैं आप सभी का आह्वान करता हूँ कि आप निरंतर परिश्रम करते रहें और आने वाले समय में समर्पण भाव से और प्रतिष्ठापूर्वक अपने कर्तव्य का निर्वहन करें।

मैं आप लोगों की उपस्थिति और स्मार्ट ड्रिल से अत्यंत प्रभावित हूँ और मैं इसके लिए आप सभी का अभिनंदन करता हूँ।

मुझे राष्ट्रीय कैडेट कोर के वार्षिक गणतंत्र दिवस शिविर, 2018 का उद्घाटन करते हुए बहुत प्रसनता हो रही है।"