हमें सभी नागरिकों के लिए संविधान में प्रतिष्ठापित अनिवार्य स्वतंत्रताएं सुनिश्चित करने के लिए अपने देश को नया रूप देना चाहिए : उपराष्ट्रपति, शहीद जयी राजगुरू के 211वें शहीदी दिवस पर भाषण

नई दिल्ली
दिसम्बर 6, 2017

भारत के उपराष्ट्रपति श्री एम. वेंकैया नायडु ने कहा कि हमें अपने देश के सभी नागरिकों के लिए हमारे संविधान में प्रतिष्ठापित अनिवार्य स्वतंत्रताएं सुनिश्चित करने के लिए देश को नया रूप देना चाहिए। वह आज यहां ओडिशा फोरम द्वारा आयोजित शहीद जयी राजगुरू के 211वें शहीदी दिवस समारोह को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर केन्द्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस तथा कौशल विकास और उद्यमिता मंत्री श्री धर्मेन्द्र प्रधान और अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

उपराष्ट्रपति ने कहा कि ओडिशा और देश के अन्य भागों में अंग्रेजों के खिलाफ विशाल 'पाइका विद्रोह' अथवा युद्ध की अलख जगाकर इसी दिन इस देश की स्वतंत्रता के लिए जयी राजगुरू ने अपने जीवन का सर्वोच्च बलिदान दिया। उन्होंने यह भी कहा कि जय कृष्ण महापात्रा, खुर्दा के राजा के राजगुरू थे जो जयी राजगुरू के रूप में प्रसिद्ध थे। उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता की पहली लड़ाई की आवाज भी ओडिसा के खुर्दा राज्य से बुलंद हुई और भारतीय स्वतंत्रता की इस सबसे पहली लड़ाई के नायक जयी राजगुरू थे।

उपराष्ट्रपति ने कहा कि जयी राजगुरू की कहानी काफी प्रेरणादायक है और हमारे अनेक पूर्वजों की वीरतापूर्ण देशभक्ति को दर्शाती है जिन्होंने अपनी मातृभूमि के लिए अपने प्राण न्यौछावर कर दिए। उन्होंने यह भी कहा कि शहीद राजगुरु के नेतृत्व में लड़ा गया 1804 का 'खुर्दा विद्रोह', सच्चे अर्थों में एक जनविद्रोह था। उन्होंने कहा कि जयी राजगुरू और उनके अनुयायियों के युद्ध कौशल, वीरता और बलिदान की इस लड़ाई को 200 सालों बाद भी लोगों द्वारा याद किया जाता है।

उपराष्ट्रपति ने कहा कि जयी राजगुरू स्वाधीनता संग्राम में ओडिशा से पहले शहीद थे और हमारे स्वतंत्रता संग्राम में सबसे पहले शहीदों में से एक थे। उन्होंने यह भी कहा कि जयी राजगुरू न केवल बहादुर योद्धा थे, बल्कि उस समय के महान संस्कृत विद्वान भी थे और कुशाग्रबुद्धि वाले भी थे। उन्होंने कहा कि हमें गर्व है कि ऐसे महापुरूष का आगमन हमारे देश में हुआ जिन्होंने अपने पीछे बलिदान की एक गौरवपूर्ण वीरगाथा छोड़ी और एक राष्ट्र के रूप में हम ऐसे महानायकों के प्रति सदैव आभारी रहेंगे।

Is Press Release?: 
1