भारतीय वायु सेवा के मार्शल अर्जन सिंह के निधन पर भारत के उपराष्ट्रपति ने शोक व्यक्त किया

नई दिल्ली
सितम्बर 17, 2017

मुझे भारतीय वायु सेना के मार्शल और भारत के सबसे वयोवृद्ध फाइव-स्टार रैंक धारण करने वाले वायु सेना अधिकारी श्री अर्जन सिंह के निधन का समाचार सुनकर गहरा दु:ख पहुंचा है।

वायु सेना के मार्शल 1965 के भारत-पाकिस्तान युद्ध में अपनी भूमिका के लिए सुप्रसिद्ध थे। भारतीय सैन्य इतिहास के एक प्रमुख स्तंभ तत्कालीन वायु सेना प्रमुख श्री अर्जन सिंह ने मात्र 44 वर्ष की आयु में 1965 के युद्ध में युवा वायु सेना का नेतृत्व किया था।

2016 में, भारतीय वायु सेना ने श्री अर्जन सिंह के 97वें जन्मदिन के अवसर पर अपने पानागढ़ (पश्चिमी बंगाल) हवाई अड्डे का नाम उनके नाम पर रखा। पानागढ़ बेस को अब एअर फोर्स स्टेशन अर्जन सिंह के नाम से जाना जाएगा। वह एकमात्र ऐसे जीवित अधिकारी थे जिनके नाम पर एक हवाई अड्डे का नाम रखा गया था।

मैं शोक संतप्त परिवार के सदस्यों के प्रति अपनी शोक संवेदना प्रेषित करता हूं तथा पूरे राष्ट्र के साथ दिवंगत आत्मा की चिरशांति के लिए प्रार्थना करता हूं।