उपराष्ट्रपति द्वारा छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में सी.आर.पी.एफ. पर हुए हमले की निंदा

येरेवन, अर्मेनिया
अप्रैल 25, 2017

छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में हुए हमले, जिसमें सी.आर.पी.एफ. के कई कार्मिक मारे गए, के बारे में जानकर मुझे अत्यंत दु:ख हुआ है।

इस प्रकार के जघन्य और निंदनीय कृत्यों का कोई औचित्य नहीं हो सकता है। इसके अपराधियों को ढूंढकर उनके अपराधों के लिए सजा अवश्य दी जानी चाहिए।

मैं कर्तव्य का निर्वहन करते हुए अपनी जान न्यौछावर करने वाले सी.आर.पी.एफ. के इन जवानों के परिवारों के प्रति राष्ट्र के साथ अपनी संवेदना प्रकट करता हूं। साथ ही, मैं घायल जवानों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की भी कामना करता हूं।